गर्मी में तरो ताजा करे, शर्बत पर इसकी शुरुआत हुआ कहा से /Origination of “Sharbat”

Share:

गर्मी के आते ही लोग कोल्ड ड्रिंक पीना शुरू कर देते हैं परंतु यह स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं है और भीतर से आपके शरीर को ठंडक भी नहीं पंहुचाता। गर्मियों में शरीर को असली ठंडक पहुंचाता है शर्बत। शर्बत वह पेय पदार्थ है जिसे हम अक्सर गर्मियों में पीते हैं। परंतु क्या कभी जानने की कोशिश की कि शर्बत का इतिहास क्या है, यह कहां से भारत आया और भारत में इसका प्रचलन किसने किया।

People start drinking cold drinks as soon as summer comes, but it is not good for your health and does not cool down your body from within. In summer , sharbat gives real coolness to the body. Sharbat is the beverage that we often drink during summers. But have you ever tried to know: -what is the history of sharbat ? from where it came to India? and who promoted it in India?

शर्बत पश्चिमी और उत्तरी एशिया का खास पेय पदार्थ है। यह अरबी शब्द “शरीबा” से आया है जिसका अर्थ है पीना। शर्बत का सबसे पुराना उल्लेख 12वीं सदी के एक फारसी मेडिकल विश्वकोश में मिलता है।

Sharbat is a specialty beverage of Western and North Asia. It comes from the Arabic word “Shariba” which means to drink. The earliest mention of sharbat is found in a 12th-century Persian medical encyclopedia.

भारत में शर्बत मुगल आक्रमणकारी बाबर के शासन काल में लोकप्रिय हुआ। बाबरनामा के अनुसार शर्बत बाबर का लोकप्रिय पेय था और भारत में उसके चलन का श्रेय बाबर को ही जाता है। कहा तो यह भी जाता है कि बाबर अपने आदमियों को हिमालय भेजता था ताकि वह शर्बत के लिए ताजी बर्फ ला सकें। मुगल राजा जहांगीर को फालूदा शर्बत बहुत पसंद था।

बाबर / Babur

Sharbat became popular in India during the reign of the Mughal invader Babur. According to Babarnama, sharbat was a popular drink of Babur and the credit for its practice in India goes to him. It is also said that Babur used to send his men to the Himalayas so that they could bring fresh snow for the sharbat. It is said that Mughal king Jahangir loved Faluda sharbat.

शर्बत प्राचीन तुर्की में भी बहुत लोकप्रिय था। शर्बत बनाने के लिए मसाले, जड़ी – बूटी और फल आटोमन पैलेस में डाॅॅक्टरों और औषधि बनाने वालों की निगरानी में उगाया जाता था।
यूं तो शर्बत फल, फूल और जड़ी – बूटी के अर्क से बने सिरप से बनता है। शर्बत को पतला करने और स्वादिष्ट बनाने के लिए उसमें पानी, चीनी और बर्फ मिलाया जाता है। कुछ शर्बतों में पानी के स्थान पर दूध मिलाया जाता है। परंतु घर में बनाया हुआ ताजे फलों का शर्बत सेहत के लिए सबसे अच्छा होता है। यह शरीर को अंदर से पूरी तरह से शीतल करता है। इस गर्मी के मौसम में बेल का शर्बत, कैरी का शर्बत, तरबूज का शर्बत, फालसा का शर्बत इत्यादि अवश्य लें।

जहांगीर /Jahangir

Sharbat was also very popular in ancient Turkey. Spices, herbs and fruits were grown in the Ottoman Palace under the supervision of doctors and herbalists to make sharbat.
In fact, sharbat is made from a syrup made from extracts of fruits, flowers and herbs. Water, sugar, and ice are added to make the sharbat thinner and tastier. In some sharbats, milk is added instead of water. But homemade fresh fruit sharbat is best for health. It cools the body completely from the inside.


Share:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *