आधुनिक युग में फैशन डिज़ाइनर का कोर्स

Share:

यदि आपके बच्चे फैशन में रूचि लेते है और उसमें एक फैशन डिजाइनर बनने के गुण हैं तो उसके लिए यह करियर एकदम सही है। यह बहुत ही ग्लैमरस करियर है। फैशन डिजाइनर को रचनात्मकए विचारों में नया ज्ञान और फैशन बाजार के प्रति जागरूक होना चाहिए। फैशन डिजाइनर की रूचि फैशन के नए ट्रेंड्स एवं पुराने फैशन के इतिहास को जानने में होनी चाहिए जिसके लिए फैशन जर्नल व फैशन मैग्जीन पढ़ना जरूरी है। इस पेशे में अपनी धाक बनाने के लिए कई कौशल में निपुण होने की आवश्यकता हैए जैसे मार्केट रिसर्च रूपरेखा बनाने की रचनात्मकता एवं कपड़ों का चयन। एक फैशन डिजाइनर को मार्केट ट्रेंड की पूरी जानकारी होनी चाहिए। एक सफल फैशन डिजाइनर को लोगों की जीवन शैली ग्राहकों की आवश्यकता की पूरी जानकारी होनी चाहिए। फैशन डिजाइनर बनने की योग्यता फैशन डिजाइनिंग का कोर्स करने के लिए भारत के किसी मान्यता प्राप्त स्कूल बोर्ड से 12वीं पास या उसके समकक्ष होना पड़ेगा। 12वीं पूरी करने के बाद उम्मीदवार एंट्रेंस एग्जाम निफ्टए निड की तैयारी कर सकते हैं।

फैशन डिजाइनिंग में जॉब के प्रकार

रिटेल मैनेजर
रिटेल मैनेजर सुनिश्चित करते हैं कि प्रचार एवं बाजार के हथकंडे सुचारू रूप से चल रहे हैं। वह स्टाफ के लिए रोजाना लक्ष्य तय करते हैं ग्राहकों की संतुष्टि इत्यादि सुनिश्चित करते हैं। इसके अलावा छोटे कंपनियों में उन्हें मानव संसाधन एवं वित्त विभाग के प्रमुख के रूप में भी कार्य करना पड़ता है।

फैशन कोऑर्डिनेटर
फैशन कोऑर्डिनेटर ब्रांड के प्रचार एवं विज्ञापन का कार्य देखते हैं। सर्वक्षेष्ठ उत्पाद के लिए उन्हें कपड़ा व्यापारियों के साथ मिलकर काम करना पड़ता है। फैशन स्टाइलिस्ट फैशन स्टाइलिस्ट फैशन शो के लिए समस्त वेशभूषा का चयन करता है। उन्हें किसी ग्राहक के लिए भी उसके फिगरए रंगए अवसर को ध्यान में रखते हुए वस्त्र का चयन करना पड़ता है।

फैशन कंसलटेंट
फैशन कंसलटेेंट को मार्केट के बदलते फैशन ट्रेंड की पूरी जानकारी होनी चाहिए। उसकी नजर बदलते फैशन ट्रेंड को भांपने में सक्षम होनी चाहिए।

टेक्सटाइल डिजाइनर
टेक्सटाइल डिजाइनर औद्योगिक या गैर औद्योगिक स्थान पर स्वतंत्र रूप से या डिजाइन टीम का हिस्सा बनकर काम कर सकते हैं। ये 2डी पैटर्न के लिए जिम्मेदार होते हैं।

मेकअप आर्टिस्ट
मेकअप आर्टिस्ट का काम है मॉडलों या सेलिब्रिटीज के विवाहए विवाह पूर्व फोटोशूट या ब्राइडल मेकअप अथवा फैशन ईवेंट्स के लिए उन्हें तैयार करना। यह ब्युटीशियन से अलग होते हैं और साधारण ब्यूटी ट्रीटमेंट का काम नहीं करते।

स्केचिंग एसिस्टेंट
इनकी जिम्मेदारी होती है विभिन्न प्रस्तुतिकरण के दौरान वस्त्रों के तकनीकी रेखाचित्र नाना। इन रेखाचित्रों का प्रयोग वस्त्रों के निर्माण एवं डिजाइनिंग में किया जाता है।

फैशन जर्नलिस्ट
फैशन जर्नलिस्ट किसी पत्रिका आदि के लिए फैशन के लेटेस्ट ट्रेंड पर लिखते हैं। हर एक लेटेस्ट ट्रेंड जानने के लिए फैशन की दुनिया की प्रत्येक खबर फैशन पत्रकार के पास होनी चाहिए। इसके लिए फैशन वल्र्ड से जुडा़ होना जरूरी है।

फैशन डिजाइनर को कहां नौकरी मिल सकती है:-

  • कॉरपोरेट बिजनेस
  • मल्टी नैशनल कंपनी
  • कंसलटिंग फर्म
  • कॉलेज एवं विश्वविद्यालय
  • गारमेंट स्टोर
  • टेक्सटाइल मिल
  • मीडिया हाउस
  • लेदर कंपनी

फैशन डिजाइनर की सैलरी उसके शिक्षा अनुभव और कौशल पर निर्भर करती है। यदि आप लीक से हटकर और कुछ नया करना चाहते हैं तो आप इस करियर के बारे में सोच सकते हैं। इसमें आत्म संतुष्टि मिलती है।


Share:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *